Baki Hai Ujaalay (बाकी हैं उजाले)

300 255
Language Hindi
Binding Paperback
Pages 149
ISBN-10 8196815506
ISBN-13 978-8196815509
Book Dimensions 5.5" x 8.5"
Amazon Buy Link
Kindle (EBook) Buy Link
Author: Arvina Gehlot

अर्विना जी का लघुकथा संग्रह “बाकी हैं उजाले” एक सकारात्मक सोच एवं संदेश के साथ रचा गया है। जीवन के विभिन्न पहलुओं को समाहित किए ये लघुकथा संग्रह एक सार्थक कदम है। अर्विना जी का साहित्य के क्षेत्र में ये पहला कदम उन्हें एक जिम्मेवार एवं संवेदनशील साहित्यकार साबित करने में सफल होगा। इस संग्रह की लघुकथाओं में संवेदनाएं है, देशभक्ति है, पूर्वजों के प्रति सम्मान है, सामाजिक कुरीतियों का विरोध है, राष्ट्रभाषा के प्रति प्रेम है, रिश्तोंं के मध्य जुड़ाव है तो नैतिकता का पाठ है।

Language

Binding

Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Baki Hai Ujaalay (बाकी हैं उजाले)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *