Bhay aur Tanav se Mukt kaise Rahen (भय और तनाव से मुक्त कैसे रहें)

290 247
Language Hindi
Binding Paperback
Pages 132
ISBN-10 9389984351
ISBN-13 978-9389984354
Book Weight 163 gm
Book Dimensions 5.5" x 8.5"
Publishing Year 2020
Amazon Buy Link
Kindle (EBook) Buy Link
Categories: , ,
Author: Yash Singhania

वर्तमान परिवेश में प्रत्येक मनुष्य कहीं ना कहीं तनावग्रस्त है। तनाव के साथ ही मनुष्य को अज्ञात कारणों से भय का सामना करना पड़ता है। हमारे जीवन के दो अमूल्य पाठ हैं… पहला तनाव, तो दूसरा भय। तनाव मनुष्य की विचारशीलता पर प्रभाव डालते हुए उसकी सोचने समझने की क्षमता को लील जाता है एवं मनुष्य को पशु के समान अविवेकशील बना देता है…. वहीं दूसरा भय…. जिसके जीवन में शामिल होते ही मनुष्य का जीवन नर्क के समान, दुर्बल और कायरतापूर्ण जीवन जीने के लिये मजबूर कर देता है। किसी भी प्रकार के तनाव और भय को कम करने के लिये बहुत जरूरी है कि मनुष्य बहुत ही समझदारी तथा शान्ति के साथ सोच विचार करते हुए जीवन व्यतीत करे। मनुष्य के मन में तनाव कब प्रवेश करता है, कब भय के रूप में परिवर्तित हो जाता है इसके बारे में कुछ भी कहा नहीं जा सकता है…. प्रस्तुत पुस्तक वर्तमान के तनावग्रस्त जीवन के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालते हुए तनाव तथा उससे उत्पन्न भय का सामना करके स्वयं को तनावमुक्त जीवन व्यतीत कैसे करें पर सारगर्भित प्रकाश डालती है।

Language

Binding

Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Bhay aur Tanav se Mukt kaise Rahen (भय और तनाव से मुक्त कैसे रहें)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *