Tulsi Ki Ratna (तुलसी की रत्ना)

250 213
Language Hindi
Binding Paperback
Pages 145
ISBN-10 8196191626
ISBN-13 978-8196191627
Book Dimensions 5.5" x 8.5"
Edition 1st
Publishing Year 2023
Amazon Buy Link
Kindle (EBook) Buy Link
Categories: ,
Author: Dr. Priyanki

एक जापानी शब्द है ‘पेरा-पेरा’, जिसका असली अर्थ है ‘धाराप्रवाह या प्रवाहमय’। यदि कोई जानकार या विद्वान व्यक्ति अपनी बुद्धि लगाकर इसे ‘पेरने या सताने’ के अर्थ में ले ले तो उसमें इस शब्द की क्या गलती है। ऐसी स्थिति में मैं समझ समझकर नासमझ बनने वाले विद्वानों या जानकारों को ‘पेराप्यूटिक’ कहूं या ‘थेराप्यूटिक’! यह मैं भविष्य निर्माताओं अर्थात् सुधी पाठकों के ऊपर छोड़ता हूं। अस्तु, मुझे असंस्तुत को तो संस्तुत करना ही पड़ेगा. इस उपन्यास का नाम है ‘तुलसी की रत्ना’। यह तो एक नाम ही है। लेकिन कोई इसका भिन्न-भिन्न अर्थ लगा ले तो इसमें इस उपन्यास की लेखिका की क्या भूमिका! लेकिन भूमिका (शब्द अत्यल्पता) से डरके भूमिका (अच्छाई) के भूमिका (गुणगान) से भागूं तो वह कतई जायज नहीं। अतः इसकी भूमिका (विषयवस्तु की पूर्व सूचना) हेतु मुझे किसी भी दशा में औपन्यासिक भूमिका तो बांधनी ही होगी।

Language

Binding

Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Tulsi Ki Ratna (तुलसी की रत्ना)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *