Zindagi Ko Zindagi Pukarti (ज़िन्दगी को ज़िन्दगी पुकारती)

295 251
Language Hindi
Binding Paperback
Pages 200
ISBN-10 9389984998
ISBN-13 978-9389984996
Book Dimensions 5.5" x 8.5"
Edition 1st
Publishing Year 2023
Amazon Buy Link
Kindle (EBook) Buy Link
Category:
Author: Sushri Lata Thakur

मेरा यह कविता संग्रह आपके” सम्मुख प्रस्तुत है। “ज़िंदगी को ज़िंदगी पुकारती” इसमे जीवन के ठेरों आयाम दर्शायें है। कुछ मधुर एहसास कुछ बाहरी एहसास जो कि दुनिया के हैं। मेरी कविताओं में मैंने वो सब कहना चाहा है जो मुझे दिखा, महसूस हुआ और लिख दिया।, “मिटे हैं अरमान सारे, हो गये खामोश तारे।” “तारे” कविता का सार है। ऊँची उड़ानों से आहत घायल पंछी की पीड़ा “गरम आँसुओं की” कविता में दिखायी देगी। “अपनी छाया” कविता में कवयित्री ने खुद को अपनी एक परछाई मात्र समझ लिया है, जो थक गई है।

Language

Binding

Paperback

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Zindagi Ko Zindagi Pukarti (ज़िन्दगी को ज़िन्दगी पुकारती)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *